14 सितंबर 2023 को ही क्यों मनाया जाता है हिंदी दिवस? Hindi Diwas स्पीच

Join Our WhatsApp Channel Join Now
Join Our Telegram Channel Join Now

Hindi Diwas 2023: भारत देश में हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है। देश में पहली बार 14 सितंबर 1953 को हिंदी दिवस मनाया गया था. राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, वर्धा के अनुरोध पर हिंदी दिवस मनाने की शुरुआत हुई थी. इसके बाद से हर साल हिंदी दिवस मनाया जाता है। आइए अब आपको बताते हैं कि 14 सितंबर को ही हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है.

आखिर क्या है? हिंदी दिवस इतिहास?

यह दिन इसलिए 14 सितंबर को इसलिए मनाया जाता है क्योंकि 14 सितंबर 1949 के ही दिन संविधान सभा में हिन्दी को आधिकारिक भाषा के रूप में स्वीकार किया था। प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने इस दिन के महत्व को देखते हुए 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाने को कहा था और फिर साल 1953 से हिंदी दिवस की शुरुआत हो गई.

hindi-diwas

हिंदी दिवस से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य:-

यह विश्व में अधिक बोली जानी वाली भाषाओ में दूसरे नंबर पर है।
दुनिया लगभग करीब 54 करोड़ लोग हिन्दी भाषा बोलते और पढ़ना जानते हैं।
आजादी के बाद 26 जनवरी 1950 को संविधान की धारा 343 के तहत 14 सितंबर को हिंदी दिवस के तौर पर मनाने का फैसला लिया गया.
भारत के अलावा भी कई देश हैं जहां हिन्दी बोली और समझी जाती है। साउथ पैसिफिक महासागर के ओशेनिया में बसा एक द्वीप देश फिजी है। फिजी में हिंदी को राजभाषा का दर्जा दिया गया है। इनको फ़िजियन हिन्दी भी कहते हैं।
दुनिया के 176 प्रसिद्ध विश्वविद्यालयों में हिन्दी एक विषय के तौर पर पढ़ाई और सिखाई जाती है।
हिंदी भाषा को 1881 ईस्वी में हिंदी को राजभाषा के रूप में बिहार अपना चुका था।
1918 में महात्मा गांधी ने हिंदी साहित्य सम्मेलन में हिंदी भाषा को राष्ट्रभाषा बनाने पर जोर दिया था. महात्मा गांधी जी हिंदी को जनमानस की भाषा कहते थे
14 सितंबर 1949 में हिन्दी को राजभाषा का दर्जा दिया गया था इसलिए इसी दिन देश में हिन्दी दिवस मनाया जाता है।
हिन्दी की खास बात यह है कि इसमें जिस शब्द को जिस तरह से उच्चारित किया जाता है, उसी तरह लिखा भी जाता है।
हिन्दी शब्दों ‘अच्छा’, ‘बड़ा दिन’, ‘बच्चा’, ‘सूर्य नमस्कार’ और यहा तक कि संविधान और आत्मनिर्भर जैसे शब्दों को भी ऑक्सफर्ड डिक्शनरी में शामिल किया गया है।

हिंदी भाषा कहाँ-कहाँ बोली जाती है।

हिन्दी भारत की आधिकारिक भाषाओं में से एक है और आमतौर पर उत्तर भारत के लोग इसका इस्तेमाल करते हैं। इसके अलावा हिन्दी मॉरीशस, फिजी, गुयाना, सूरीनाम, त्रिनिदाद और टोबैगो और नेपाल जैसे देशों में भी बोली जाती है।
देश में अंग्रेजी बोलने और पढ़ने वालों की संख्या तेज़ी से बढ़ रही है, लेकिन फिर भी हिन्दी पाठकों की संख्या सबसे ज़्यादा है। आंकड़े बताते हैं कि भारत में सबसे ज़्यादा पढ़ें जाने वाला समाचार पत्र की रैंकिंग में पहला, दूसरा हिन्दी अख़बारों का ही है।
भारत की राजभाषा हिन्दी दुनिया में दूसरी सबसे ज़्यादा बोली जाने वाली भाषा है। भारत में हिन्दी भाषा बोलने वालों की आबादी 46 करोड़ से ज़्यादा है।

हिंदी दिवस पर पूछे जाने वाले सवाल?

हिंदी दिवस का इतिहास?
हिंदी दिवस कब और क्यों मनाया जाता है?
14 सितंबर को ही क्यों मनाया जाता है हिंदी दिवस?
हिंदी दिवस पर स्पीचgk-help.com

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top