चुकंदर के फायदे, उपयोग और नुकसान | Benefits, Uses and Harm of Beetroot in Hindi

Join Our WhatsApp Channel Join Now
Join Our Telegram Channel Join Now

Benefits of Beetroot in Hindi:-दोस्तों Gk-help.com के Helth Tips के अंदर आपका स्वागत है। आज के इस Blogs में हम आपको चुकंदर के फायदे, उपयोग और नुकसान के बारे में सही, स्पष्ट्ट व सटीक जानकारी देंगे। कृपया चुकंदर के फायदे, उपयोग और नुकसान के बारे में जानने के लिए इस पोस्ट को ध्यान से पढ़े। क्या आपको पता है कि चुकंदर का पूरा पौधा व इसका प्रत्येक हिस्सा खाने योग्य होता है। जी हां, दोस्तों चुकंदर के साथ साथ इसके पत्ते भी खाने योग्य होते है। चुकंदर को कई प्रकार से खाया जाता है। कई लोग इसे सब्जी के रूप में खाते है। कई लोग इसे सलाद के के रूप में खाते है। चुकंदर का वानस्पतिक नाम बीटा वल्गैरिस है। और इसको सामान्य भासा में Beetroot कहा जाता है। चुकंदर (Beetroot ) की खेती प्रमुख रूप से भारत देश के कई राज्यों जैसे हरियाणा,उत्तर-प्रदेस, महाराष्ट्र, हिमाचल-प्रदेस तथा पश्चिम-बंगाल में की जाती है।

चुकंदर के फायदे उपयोग और नुकसान

चुकंदर एक ऐसा सुपर फूड है, जो हमारे शरीर के लिए बहुत उपयोगी तथा लाभदायक होता है, इसके साथ ही चुकंदर में बहुत सारे विटामिंस पाए जाते हैं जैसे विटामिन A, विटामिन B, विटामिन C, आयरन, पोटेशियम, फास्फोरस, मैग्निशियम, कैल्शियम से भरपूर है। जो कि हमारे शरीर को स्वस्थ्य रखने के लिए बहुत आवश्य्क होते है। चुकंदर (Beetroot ) की तासीर बहुत ठंडी होती है और इसका सेवन गर्मियों में किया जाये तो यह कई बीमारियों में लाभदायक होता है।

चुकंदर की टॉप किस्में (Top Varieties of Beetroot):-

दोस्तों चुकंदर की कई किस्मे पायी जाती है। परन्तु भारत देश में ये 7 प्रकार की किस्मो की खेती की जाती है। जो की बहुत ही कम समय में पककर तैयार हो जाती है। और अधिक से अधिक मुनाफा कमाया जाता है। जो इस प्रकार है:-

  • अर्ली वंडर
  • शाइन रेडबॉल
  • अशोका-रेडमेन
  • क्रिमसन ग्लोब
  • मिश्र की क्रास्बी
  • कलश एक्शन
  • इंदम–रूबी

चुकंदर के फायदे ( Health Benefits of Beetroot in Hindi ):-

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में अपने आप को स्वस्थ्य रखना बहुत कठिन होता है। इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को रोज सुबह चुंकदर का सेवन करना चाहिए। क्योकि चुकंदर में बहुत सारे विटामिंस पाए जाते हैं, जो शरीर को कई रोगों से बचाते हैं। जिनकी एक स्वस्थ्य व्यक्ति को आवश्यकता होती है। तो आइये दोस्तों जानते है कि चुकंदर के क्या क्या फायदे होते है। चुकंदर के सेवन से इम्यूनिटी बूस्ट होती है, साथ ही ये स्किन के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। जो इस प्रकार है:-

  • मधुमेह में चुकंदर (Beetroot) खाने के फायदे:- डायबिटीज के रोगियों के लिए चुकंदर (Beetroot) का सेवन करना बहुत ही लाभदायक होता है। क्योकि डायबिटीज रोगियों में मेटफार्मिन दवा रेगुलर लेने से उनके शरीर में ब्लड की कमी होना शुरू हो जाती है। यदि डायबिटीज के रोगी चुकंदर (Beetroot) का सेवन करना शुरू कर दे तो खून बढ़ाने के साथ शरीर को कई फायदे दे सकता है। चुकंदर में हीमोग्लोबिन बढ़ाने की समता होती है, क्योकि चुकंदर को आयरन का अच्छा स्त्रोत माना जाता है। इसके साथ ही चुकंदर में नियो बीटानिन जैसे पोषक तत्व होते हैं जो आपके ब्लड शुगर के स्तर को कम करने और इंसुलिन के लेवल की बनाये रखता है। अतः डायबिटीज के रोगी चुकंदर का सेवन कच्चे या जूस के रूप में कर सकते है।
  • हृदय के लिए चुकंदर (Beetroot) खाने के फायदे:- दोस्तों चुकंदर (Beetroot) का सेवन करना हमारे ह्रदय के लिए काफी फायदेमंद होता है। ह्रदय हमारे शरीर का महत्वपूर्ण अंग है। जिसको स्वस्थ्य रखना बहुत ही जरूरी होता है। चुकंदर (Beetroot) हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद करता है। क्योकि चुकंदर में फोलेड की मात्रा पायी जाती है। जो कि हमारे ह्रदय को हार्ट स्ट्रोक, हार्ट अटैक आदि समस्याओ से बचाने में मदद करता है। इसके साथ ही चुकंदर को नाइट्रिक ऑक्साइड का अच्छा सोर्स भी माना जाता है, जो हमारे शरीर की मांसपेशियों और कोशिकाओं में ब्लड सर्कुलेशन को ठीक रखता है। इसके लिए ह्रदय रोगियों को चुकंदर का सेवन करना चाहिए। क्योकि चुंकदर में अच्छा कोलेस्ट्रॉल होता है, जो हमारे ह्रदय को खराब कोलेस्ट्रॉल को दूर कर हार्ट को हेल्दी बनाए रखता है।
  • उच्च रक्तचाप के लिए चुकंदर (Beetroot) खाने के फायदे:- हाई Blood प्रेशर के रोगियों के लिए चुकंदर का सेवन करना बहुत ही लाभदायक साबित होता है। शोधकर्ताओ के अनुसार चुकंदर (Beetroot) के जूस का सेवन करने से हमारे शरीर में सिस्टोलिक और डायस्टोलिक ब्लड प्रेशर दोनों ही कम रहता है। दोस्तों चुकंदर (Beetroot) में नाईट्रेट नामक पोसक तत्व मौजूद होता है। जिसके कारण चुकंदर (Beetroot) हमारे शरीर के ब्लड में अच्छी तरह फेल जाता है। जिससे रक्त का दबाव कम होता है और उच्च रक्तचाप की समस्या भी कम हो जाती है।
  • कैंसर में चुकंदर (Beetroot) खाने के फायदे:- दोस्तों कैंसर जैसी घातक बीमारी से बचने के लिए हमे चुकंदर (Beetroot) का सेवन करना चाहिए। क्योकि चुकंदर के जूस में कैंसर रोधी तत्व होते हैं, जो कैंसर से शरीर का बचाव करने में मदद करते हैं। दोस्तों अगर हम गाजर और चुकंदर का जूस एक साथ मिलाकर पिए तो हमारे शरीर में ब्लड कैंसर होने की समस्या काफी हद तक कम हो जाती है। बेटालेन फ्री रेडिकल्स के रूप में भी काम करता है।
  • एनीमिया में चुकंदर (Beetroot) खाने के फायदे:- दोस्तों एनिमिया रोग हमारे शरीर में खून की कमी के कारण होता है। यह एक बहुत ही घातक बीमारी है। इसके लिए एनिमिया रोग से ग्रस्त रोगियों को चुकंदर के जूस, चुकंदर का हलवा या फिर सलाद के रूप में सेवन करना चाहिए। यह बहुत ही फायदेमद होता है। क्योकि चुकंदर (Beetroot) में आयरन की मात्रा बहुत अधिक होती है। जो कि हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने का काम करता है। अतः एनिमिया रोग से बचने के लिए हमे चुकंदर (Beetroot) का सेवन जरूर करना चाहिए।
  • चुकंदर (Beetroot) खाने के फायदे ऊर्जा बढ़ाने में:- चुकंदर (Beetroot) का सेवन हमारे शरीर में ऊर्जा के स्तर को बनाये रखने में मदद करता है। क्योकि 100 मिलीलीटर जूस में 95 kcal ऊर्जा होती है, जिसके सेवन से शरीर में तुरंत ऊर्जा मिल सकती है। चुकंदर (Beetroot) में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा भी पायी जाती है। जो की शरीर में ऊर्जा बढ़ाने में मदद करता है और साथ ही खसरा जैसी बीमारियों के सक्रमण से भी बचाव करता है। इसके सेवन करने के लिए हमे चुकंदर को पानी में उबालकर फिर छानकर रस पिने से काफी राहत मिलता है।
  • दांत और हड्डियों के लिए चुकंदर (Beetroot) खाने के फायदे:- दोस्तों दांत और हड्डियों की मजबूती के हमे कैल्शियम की जरूरत होती है। चुकंदर (Beetroot) एक ऐसा फ़ूड है, जिसे कैल्शियम का अच्छा स्त्रोत माना जाता है।  एक मजबूत और स्वथ्य शरीर के लिए मजबूत हड्डियां होना बहुत जरूरी है।
  • बालों के लिए चुकंदर (Beetroot) खाने के फायदे:- दोस्तों चुकंदर (Beetroot) हमारी सेहत के साथ साथ त्वचा और बालो के लिए बहुत फायदेमंद होता है। बढ़ती हुई उम्र के कारण हमारी त्वचा बेजान और रूखी सी हो जाती है। तथा बाल भी झड़ने लगते है। इन समस्याओ से छुटकारा पाने के लिए हमे चुकंदर का सेवन करना चाहिए। क्योकि चुकंदर में विटामिन-सी और एंटी ऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते है। जो कि त्वचा संबंधी समस्या को कम करने में मदद करता है और हेयर फॉल को भी कंट्रोल करता है। इसके साथ ही चुकंदर में फोलेड की मात्रा भी होती है, जो त्वचा संबंधित संक्रमण से बचाव करता है।
  • यौन स्वास्थ्य में चुकंदर (Beetroot) खाने के फायदे:- दोस्तों यौन स्वास्थ्य के लिए पहले पुरुष चुकंदर का सेवन किया करते थे। इससे पुरुषो का यौन स्वास्थ्य ठीक रहता है। क्योकि चुकंदर में बोरॉन नामक तत्व पाया जाता है। जो कि ह्यूमन हार्मोन को रिलीज करता है। जिससे उनकी यौन इच्छा जाग्रत होती है। चुकंदर पेनाइल इरेक्टाइल डिसफंक्शन को ठीक करने यानी पुरुषों में नपुंसकता को ठीक करने में मदद कर सकता है। पुरुषो के साथ साथ चुकंदर (Beetroot) महिलाओ के लिए भी फायदेमंद होता है। यह महिलाओ की कामेच्छा बढ़ाने में मदद करता है। चुकंदर में नाइट्रिक ऑक्साइड भरपूर मात्रा में पाया जाता है। जो कि रक्त वाहिनियों का विस्तार करने और प्राइवेट पार्ट में ब्लड का संचारण अच्छे से करता है। जिससे पुरुषो की यौन इच्छा को बढ़ावा मिलता है।
  • माहवारी में चुकंदर (Beetroot) खाने के फायदे:- अक्सर महिलाओ को हर महीने पीरियड्स (periods) के दौरान कई समस्याओ का सामना करना पड़ता है। जैसे कमर दर्द, पेट दर्द, थकान , कमजोरी और चिचिड़ापन आदि। क्योकि पीरियड्स (periods) के दौरान ब्लड का अधिक फ्लो होता है। जिसके चलते शरीर में खून की कमी हो जाती है। और इस समय महिलाओ में खून की कमी होने से एनीमिया रोग होने का खतरा भी रहता है। चुकंदर (Beetroot) का रस थोड़ी ताकत प्रदान करने में मदद कर सकता है क्योंकि चुकंदर या बीटरूट आयरन से भरपूर होता है और खून का भी काम करता है। अतः हर महिला को पीरियड्स (periods) के दौरान चुकंदर (Beetroot) का सेवन करना चाहिए।
  • मोतियाबिंद में चुकंदर (Beetroot) खाने के फायदे:- दोस्तों बढ़ती हुई उम्र के कारण हमारी आँखो की रोशनी कम होने लगती है। चुकंदर (Beetroot) का सेवन हमारी आखो के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। क्योकि चुकंदर में भरपूर मात्रा में विटामिन-सी पाया जाता है। जो की हमारी आखो के बहुत ही जरूरी होता है। विटामिन-सी की कमी के कारण हमारी आखो में मोतियाबिंद जैसे बीमारी हो जाती है। इस बीमारी से बचने के लिए हमे चुकंदर (Beetroot) का सेवन करना चाहिए।
  • लिवर के लिए चुकंदर (Beetroot) खाने के फायदे:- आजकल अनियमित खानपान, जंक फूड का सेवन करने की वजह से हमरा लिवर अस्वस्थ्य हो जाता है। खानपान में कमी के कारण आजकल लोगों को लिवर डिसीज, हेपेटाइटिस, हेमोक्रोमैटोसिस और प्राइमरी पित्त सिरोसिस जैसी बीमारिया हो रही हैं। इन सभी समस्याओ से निजात पाने के लिए चुकंदर (Beetroot) का सेवन करना चाहिए। चुकंदर (Beetroot) में फ्लेवोनॉयड्स भी पाए जाते हैं, जो मेटाबॉलिज्म को बनाए रखने में सहायता करते हैं। और साथ ही चुकंदर लिवर को डिटॉक्सिफाई भी कर सकता है। अथार्थ लिवर की सफाई करने में मदद करता है।
  • गर्भावस्था में चुकंदर (Beetroot) खाने के फायदे:- दोस्तों गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिलाओ के लिए चुकंदर का सेवन करना बहुत ही लाभदायक होता है। क्योकि चुकंदर (Beetroot) में प्रचुर मात्रा में आयरन, पोटेशियम, फॉस्फोरस, कैल्शियम, विटामिन D और भरपूर मात्रा में पोषक तत्व मौजूद होते हैं। जो कि गर्भवती महिलाओ के लिए आवश्यक होते है। इसके साथ ही चुकंदर (Beetroot) में फ़ोलेड की मात्रा भी होती है। जो गर्भ में पल रहे बच्चे के दिमाग और रीढ़ की हह्डी के विकास में मदद करता है। फोलेट कोशिकाओं को स्वस्थ बनाए रखने में और नए स्वस्थ सेल को बनाने में मदद करता है। और साथ ही जन्म के दौरान होने वाली विकारो से बचाव करता है।
  • कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने के लिए चुकंदर (Beetroot) खाने के फायदे:- आजकल अनियमित खानपान, जंक फूड का सेवन करने की वजह से हमारे शरीर में अतिरिक्त वसा (कोलेस्ट्रोल) जमा हो जाता है। कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने के लिए चुकंदर का सेवन करना बहुत ही लाभदायक होता है। जिसके कारण हमे दिल से संबंधित कई बीमारिया होने का खतरा होता है। चुकंदर में नाइट्रिक ऑक्साइड की अच्छा मात्रा होती है जो कि दिल की सेहत के लिए फायदेमंद है। हार्ट को स्वस्थ रखना बहुत जरूरी होता है। चकन्दर फैट लिपिड को साफ करने में मदद करता है और साथ ही अतिरिक्त कोलेस्ट्रोल को शरीर से बहार निकल देता है।
  • दिमाग के लिए  चुकंदर (Beetroot) खाने के फायदे:- दोस्तों बढ़ती हुई उम्र और भागदौड़ भरी जिंदगी में हमारी स्मृति, एकाग्रता, निर्णय लेने की क्षमता आदि कम होने लगती है। इसका मुख्य कारण दिमाग के ऊपरी हिस्से (सेरिब्रेम) की तरफ ब्लड फ्लो नहीं होना है। इसका समय रहते इलाज नहीं होने पर यह एक गंभीर बीमारी ब्रेन डैमेज या अल्जाइमर का रूप ले सकती है। इस समस्या को कुछ हद तक कम करने के लिए आप चुकंदर (Beetroot) का सेवन कर सकते हो। चुकंदर दिमाग को बूस्ट करने का काम करता है। इसमें प्रचुर मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट मौजूद है। इसके साथ चुकंदर हमारी यादास्त कोभी तेज करता है, गर्भ में पल रहे बच्चे के दिमाग का विकास करता है। उम्र बढ़ने के साथ ज्यादातर बुजुर्गों के दिमाग की कोशिकाएं तेजी से डेड होने (Dementia) लगती हैं। और चुकंदर में मौजूद न्यूट्रीएंट इस समस्या को कम करने में मदद करता है।

चुकंदर को अपने आहार में कैसे शामिल करें?

दोस्तों अगर आप अपने दैनिक जीवन में चुकंदर (Beetroot) का सेवन करना चाहते हो तो आपको अपने निजी आयुर्वेदिक डॉक्टर या एक्सपर्ट से परामर्श करना चाहिए। वे आपकी सेहत के अनुसार सही मात्रा बता देंगे। आइये दोस्तों जानते है कि चुकंदर को अपने आहार में कैसे शामिल कर सकते हो:-

  • चुकंदर (Beetroot) का आप सलाद के रूप में सेवन कर सकते हो।
  • चुकंदर (Beetroot) आप सब्जी के रूप में सेवन कर सकते हो।
  • चुकंदर (Beetroot) आप जूस के रूप भी सेवन कर सकते हो।
  • चुकंदर (Beetroot) के लाभ आप इसका रायता बनाकर भी लाभ उठा सकते हो।
  • कई लोग चुकंदर (Beetroot) का हलवा भी बनाकर सेवन करते है।
  • कई लोग चुकंदर (Beetroot) का अचार भी बनाकर सेवन करते है।

चुकंदर के पौष्टिक तत्व (Beetroot Nutritional Value in Hindi):-

दोस्तों चुकंदर में अनेक प्रकार के पौष्टिक तत्व और विटामिन पाए जाते है। आइये दोस्तों इस Blogs के माध्यम से जानते है कि चुकंदर में कौन-कौन पौष्टिक तत्व और विटामिन पाए जाते है। जो इस प्रकार है:-

विटामिन

क्रमविटामिनमात्रा
1.विटामिन सी4.9 मिलीग्राम
2.विटामिन बी20.040 मिलीग्राम
3.विटामिन बी60.067 मिलीग्राम
4.विटामिन ए36 IU
5.विटामिन ई0.300 मिलीग्राम
6.नियासिन0.334 मिलीग्राम

पौष्टिक तत्व

क्रमपोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
1.पानी87.5 ग्राम
2.ऊर्जा43 kcal
3.फैट0.17 ग्राम
4.प्रोटीन1.61 ग्राम
5.कार्बोहाइड्रेट्स9.56 ग्राम
6.फाइबर2.8 ग्राम

मिनरल

क्रममिनरलमात्रा
1.पोटैशियम325 मिलीग्राम
2.सोडियम78 मिलीग्राम
3.फॉस्फेट40 मिलीग्राम
4.कैल्शियम16 मिलीग्राम
5.मैग्नीशियम23 मिलीग्राम
6.आयरन0.80 मिलीग्राम
7.जिंक0.30 मिलीग्राम

चुकंदर के नुकसान (Side Effects of Beetroot in Hindi)

दोस्तों चुकंदर खाने का फायदे है तो कुछ नुकसान भी हो सकते है। क्योकि अधिक मात्रा में चुकंदर खाने से नुकसान भी हो सकते हैं। ये नुकसान इस प्रकार है:-

  • होमेक्रोमेटोसिस (Hemocromatosis) के रोगियों को इसके सेवन करने से बचना चाहिए। क्योकि चुकंदर में आयरन और कॉपर भरपूर मात्रा में पाया जाता है।
  • जिन लोगो का ब्लड प्रेशर कम रहता है उन लोगो को चुकंदर का सेवन कम करना चाहिए। अन्यथा उनको हानि का सामना करना पड सकता है।
  • जिन लोगो चुकंदर खाने से एलर्जी है उनको इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
  • कई लोगो को चुकंदर का अधिक मात्रा में सेवन करने से मतली और डायरिया जैसी समस्‍या हो सकती है।
  • अधिक मात्रा में चुकंदर खाने से यह हमारे शरीर में लिवर और पैनक्रियाज को नुकसान पहुंचा सकता है। क्योकि चुकंदर में आयरन, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस आदि मौजूद होते हैं जो कि मिनरल्स है। और इनका ज्यादा सेवन करने से ये लिवर में इकट्ठे हो जाते है।
  • ब्लड शुगर के रोगियों को चुकंदर का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। क्योकि चुकंदर का सेवन करने से शुगर का लेवल बढ़ सकता है।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या चुकंदर रोज खाया जा सकता है?

जी हाँ। दोस्तों आप चुकंदर का रोज सलाद, जूस, हल्वे के रूप में सेवन कर सकते है।

क्या चुकंदर को कच्चा खाया जा सकता है?

जी हाँ। दोस्तों आप चुकंदर का रोज सलाद के रूप में कच्चा खा सकते हो।

चुकंदर खाने का सही समय क्या होता है?

दोस्तों चुकंदर खाने का कोई समय निश्चित नहीं है। लेकिन आप इसे रोज सुबह सलाद या जूस के रूप में सेवन कर सकते हो।

क्या चुकंदर एनीमिया को ठीक कर सकता है?

जी हाँ। क्योकि चुकंदर को आयरन का अच्छा स्त्रोत माना जाता है। चुकंदर की उच्च पोषक तत्व शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के विकास को बढ़ाता है और हीमोग्लोबिन के स्तर में सुधार करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top