जानिये 2024 में भारत की जनसंख्या कितनी है? और कितनी बढ़ेंगी: Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai

Join Our WhatsApp Channel Join Now
Join Our Telegram Channel Join Now

आज भारत जनसंख्या की दृष्टि में विश्व के दूसरे पायदान पर है। आज के इस लेख में हम बात करेंगे Bharat ki Jansankhya Kitni Hai (भारत की जनसंख्या कितनी है) और भारत में भविष्य में कितनी जनसंख्या हो जायगी।

Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai
Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai

भारत की जनसंख्या:

वर्ष 2011 के अनुसार भारत की जनसंख्या: हम यह बात दे की भारत की भारत की 15वीं जनगणना के अनुसार जनसंख्या 1.21 अरब है।

  • 2011 की जनगणना के अनुसार जनसंख्या के आधार पर उत्तर प्रदेश भारत का सबसे बड़ा राज्य है जहां देश की कुल जनसंख्या के 16 प्रतिशत लोग रहते हैं.
  • सभी राज्यों की आबादी बढ़ी है. सिर्फ नगालैंड ने ऋणात्मक विकास दर्ज किया है।
  • 2001 से 2011 में भारत की जनसंख्या 17.6 प्रतिशत की दर से 18 करोड़ बढ़ी है।

पहले 2001 जनगणना के अनुसार भारत की जनसंख्या 1,028,737,436 बताई गयी थी, जिसमें 532,223,090 पुरुष और 496,514,346 महिलाएँ थीं।

हम आपकों बता दे कि भारत में अंग्रेजी शासन काल में सबसे पहली जनगणना 1872 में की गई थी और भारत की आजादी के बाद 1951 में भारत की जनसंख्या की गणना हुई और तब से लेकर आज तक हर 10 साल के अंतराल पर भारत की जनसंख्या की गणना की जाती है। पूरी दुनिया की बात की जाये तो 1960 और 1999 के बीच, विश्व की जनसंख्या तीन अरब से दोगुनी होकर छह अरब लोगों तक पहुंच गई।

भारत की जनसंख्या की दर:

भारत आधिकारिक तौर पर भारत देश दक्षिणी एशिया में एक देश है। भारत दुनिया का दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश है, जो दुनिया की कुल आबादी का 17.7% है।इसके अलावा क्षेत्रफल के हिसाब से यह दुनिया का सातवां सबसे बड़ा देश है।

Yearly Population Growth Rate

Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai

कुल जनसंख्या 1,403,801,248 (140 करोड़)
वैश्विक रैंक       2
विश्व पॉप का हिस्सा17.7%
क्षेत्र      2,973,190 वर्ग। किमी (1,147,960 वर्ग मील)
विश्व में क्षेत्र रैंक7
घनत्व462 व्यक्ति / वर्ग किमी (1198/वर्ग मील)

भारतीय जनसंख्या का इतिहास

1800 में, वर्तमान भारत के क्षेत्र की जनसंख्या लगभग 169 मिलियन थी। जनसंख्या 19 वीं के दौरान धीरे-धीरे बढ़ी। सदी, 1900 तक 240 मिलियन से अधिक हो गई। इसके साथ ही स्वास्थ्य, स्वच्छता और बुनियादी ढांचे में सुधार के कारण मृत्यु दर में गिरावट के परिणामस्वरूप दर्ज हुई।

सदी, और 2020 में, भारत की आबादी 1.4 अरब से अधिक होने का अनुमान है, जो एक सदी पहले की तुलना में एक अरब से अधिक है। आज, पृथ्वी की लगभग 18% आबादी भारत में रहती है, और यह अनुमान लगाया जाता है कि भारत अगले पांच वर्षों के भीतर चीन को पछाड़कर दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला देश बन जाएगा।

India Ki Jansankhya Kitni Hai (1955-2024)

हर वर्ष भारत की जनसंख्या बढ़ती है लेकिन इसको हर वर्ष मापा जाता है की कितनी प्रतिशत भारत की जनसंख्या बढ़ी है इसको आप दिए हुए आकड़ो के द्वारा समझ सकते है।

YearPopulationYearly Change
20201,380,004,3850.99%
20191,366,417,7541.02%
20181,352,642,2801.04%
20171,338,676,7851.07%
20161,324,517,2491.10%
20151,310,152,4031.20%
20101,234,281,1701.47%
20051,147,609,9271.67%
20001,056,575,5491.85%
1995963,922,5881.99%
1990873,277,7982.17%
1985784,360,0082.33%
1980698,952,8442.32%
1975623,102,8972.33%
1970555,189,7922.15%
1965499,123,3242.07%
1960450,547,6791.91%
1955409,880,5951.72%
bharat ki jansankhya kitni hai

भारत जनसांख्यिकी दर :

भारत में प्रजनन दर2%
भारत में शिशु मृत्यु दर28.3%
भारत में औसत आयु28.4 वर्ष
भारत में जीवन प्रत्याशा70.42 वर्ष
भारत की शहरी जनसंख्या35%

जनसंख्या के हिसाब से भारत के शीर्ष शहर (Top Cities in India by Population)

Uttar Pradesh (UP)19,98,12,34123.32 करोड़
महाराष्ट्र11,23,74,33312.54 करोड़
बिहार10,40,99,45212.49 करोड़
पश्चिम बंगाल9,12,76,1159.86 करोड़
Madhya Pradesh (MP)7,26,26,8098.55 करोड़
तमिलनाडु7,21,47,0307.66 करोड़
राजस्थान6,85,48,4378 करोड़
कर्नाटक6,10,95,2976.72 करोड़
गुजरात6,04,39,6927 करोड़
आंध्र प्रदेश49,386,7995.3 करोड़
उड़ीसा4,19,74,2184.6 करोड़
तेलंगाना35,193,9783.79 करोड़
केरल3,34,06,0613.56 करोड़
झारखंड3,29,88,1343.9 करोड़
असम3,12,05,5763.54 करोड़
पंजाब2,77,43,3383.05 करोड़
छत्तीसगढ2,55,45,1982.98 करोड़
हरयाणा2,53,51,4622.98 करोड़
दिल्ली1,67,87,9412.10 करोड़
जम्मू और कश्मीर1,22,58,4331.35 करोड़
उत्तराखंड1,00,86,2921.15 करोड़
हिमाचल प्रदेश68,64,60274 लाख
त्रिपुरा36,73,91741 लाख
मेघालय29,66,88933.18 लाख
मणिपुर28,55,79431.94 लाख
नगालैंड19,78,50222.13 लाख
गोवा14,58,54515.67 लाख
अरुणाचल प्रदेश13,83,72715.48 लाख
पुदुचेरी12,47,95316.08 लाख
मिजोरम10,97,20612.27 लाख
चंडीगढ़10,55,45012.77 लाख
सिक्किम6,10,5776.83 लाख
दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव5,86,95610.77 लाख
अंडमान और निकोबार3,80,5814 लाख
लद्दाख274,2892.97 लाख
लक्षद्वीप64,47368000

जनसंख्या के हिसाब से शीर्ष शहर 2024

शहर का नामआबादी
मुंबई12,691,836 करोड़
दिल्ली10,927,986 करोड़
बेंगलुरु5,104,047 करोड़
कोलकाता4,631,392 करोड़
चेन्नई4,328,063 करोड़
अहमदाबाद3,719,710 करोड़
हैदराबाद3,597,816 करोड़
पुणे2,935,744 करोड़
पत्र2,894,504 करोड़
कानपुर2,823,249 करोड़
जयपुर2,711,758 करोड़
नवी मुंबई2,600,000 करोड़
लखनऊ2,472,011 करोड़
नागपुर2,228,018 करोड़
इंदौर1,837,041 करोड़
पटना1,599,920 करोड़
भोपाल1,599,914 करोड़
लुधियाना1,545,368 करोड़
तिरुनेलवेली1,435,844 करोड़
आगरा1,430,055 करोड़
वडोदरा1,409,476 करोड़
गोरखपुर1,324,570 करोड़
नासिक1,289,497 करोड़
पिंपरी1,284,606 करोड़
कल्याण1,262,255 करोड़
थाइन1,261,517 करोड़
मेरठ1,223,184 करोड़
नवरंगपुर1,220,946 करोड़
फरीदाबाद1,220,229 करोड़
गाज़ियाबाद1,199,191 करोड़
Dombivli1,193,000 करोड़
राजकोट1,177,362 करोड़
वाराणसी1,164,404 करोड़
अमृतसर1,092,450 करोड़
इलाहाबाद1,073,438 करोड़
विशाखापत्तनम1,063,178 करोड़
टेनी1,034,724 करोड़
जबलपुर1,030,168 करोड़
घंटे1,027,672 करोड़
औरंगाबाद1,016,441 करोड़
Shivaji Nagar1,000,000 करोड़
सोलापुर997,281 करोड़
श्रीनगर975,857 करोड़
चंडीगढ़960,787 करोड़
कोयंबटूर959,823 करोड़
जोधपुर921,476 करोड़
मदुरै909,908 करोड़
गुवाहाटी899,094 करोड़
ग्वालियर882,458 करोड़
विजयवाड़ा874,587 करोड़
मैसूर868,313 करोड़
रांची846,454 करोड़
हुबली840,214 करोड़
जालंधर785,178 करोड़
तिरुवनंतपुरम784,153 करोड़
सलेम778,396 करोड़
तिरुचिरापल्ली775,484 करोड़
शहर763,088 करोड़
भुवनेश्वर762,243 करोड़
अलीगढ़753,207 करोड़
बरेली745,435 करोड़
मुरादाबाद721,139 करोड़
भिवंडी707,035 करोड़
रायपुर679,995 करोड़
गोरखपुर674,246 करोड़
Bhilai625,138 करोड़
जमशेदपुर616,338 करोड़
बोरीवली609,617 करोड़
कोचीन604,696 करोड़
अमरावती603,837 करोड़

भारत में सबसे कम आबादी वाले राज्य:

मिजोरम और अरुणाचल प्रदेश के बाद सिक्किम सबसे कम आबादी वाला राज्य है।

12 सबसे कम आबादी वाले राज्य/केंद्र शासित प्रदेश भारत की आबादी का केवल 1% योगदान करते हैं और 21 सबसे कम आबादी कुल का केवल 10% है।

राज्य2021 (अनुमान)
सिक्किम6.77 लाख
मिजोरम12.16 लाख
अरुणाचल प्रदेश15.33 लाख
गोवा16 लाख
नगालैंड22 लाख
मणिपुर31.65 लाख
मेघालय33 लाख
त्रिपुरा41 लाख
हिमाचल प्रदेश74 लाख

Bharat Jansankhya अलग-अलग धर्मों के अनुसार:

धर्म का नामजनसंख्या प्रतिशत
हिन्दू79.8%
सिख1.72 %
बौद्ध0.7 %
इस्लाम14.2 %
जैन0.37 %
ईसाई2.3 %
अन्य धर्म को अपनाने वाले0.9 %

भारत की पहली जनगणना कब हुई थी?

भारत की पहली सम्पूर्ण जनगणना वर्ष 1881 में हुई थी तथा 1951 के बाद की सभी जनगणनाएँ 1948 की जनगणना अधिनियम के तहत कराई गई।

जन्म दर किसे कहते हैं?

देश या क्षेत्र में प्रति हज़ार व्यक्तियों पर एक वर्ष में जन्में जीवित बच्चों की संख्या को ही जन्मदर कहा जाता है और एक बात गौर करने वाली है कि किसी भी देश में जन्म दर जितनी अधिक होगी उस देश में जनसंख्या वृद्धि की दर भी अधिक हो जायेगी।

भारत में सबसे अधिक जनसँख्या वाला राज्य कोनसा है?

2011 की जनगणना के अनुसार उत्तर प्रदेश (UP)भारत का राज्य है जिसकी जनसंख्या लगभग 199,812,341(19.98 करोड़) है। उत्तर प्रदेश राज्य का घनत्व 829 प्रति वर्ग किमी है। यह भारत में सबसे अधिक आबादी वाले राज्य में पहले स्थान पर है।

भारत में सबसे कम आबादी वाला या सबसे कम जनसंख्या कोनसा है?

भारत में सिक्किम राज्य सबसे कम जन संख्या वाला राज्य है।

2011 की जनगणना अब तक की कौन सी जनगणना है?

भारत की जनगणना 2011 की 15वीं राष्ट्रीय जनगणना है इसकी शुरूआत का समय वर्ष 2010 को माना गया है। और अनुमानन 2024 में 16वी जनगणना की जानी है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top