Coronavirus Kya hai: और डेल्टा प्लस कोरोना क्या है ?

Join Our WhatsApp Channel Join Now
Join Our Telegram Channel Join Now

Coronavirus: आज हम बात करेंगे पूरी दुनिया में भयानक रूप से फैलने वाली महामारी Coronavirus Kya hai के बारे में:- WHO को कोरोना वायरस का सबसे पहले 31 दिसंबर 2019 को पता चला जब चीन के में हुबेई प्रांत वुहान लैब से वायरल निमोनिया के मामलों के एक समूह की रिपोर्ट आई थी।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने पिछले साल 11 मार्च 2020 को ही कोविड को महामारी घोषित किया

COVID-19 जिसे पहले “नॉवेल कोरोनावायरस 2019” के रूप में जाना जाता था) और इसके कारण होने वाली बीमारी के लिए जिम्मेदार जनितवायरस के लिए आधिकारिक नामों की आवश्यकता हुई और इनको आधिकारिक नाम दिए गए।
आधिकारिक नाम हैं:
रोग (Disease) का नाम:- कोरोना वायरस (COVID-19)
वायरस (Virus) का नाम :- SARS-CoV-2 (Severe Acute Respiratory Syndrome Coronavirus 2)

COVID-19 के सबसे आम लक्षण हैं:

थकान
बुखार
सूखी खांसी

Read About: कोरोना वायरस पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

आम लक्षण हैं जो कोरोना से कर सकते हैं:

स्वाद या गंध की हानि,
नाक बंद,
लाल आके हो जाना (नेत्रश्लेष्मलाशोथ),
गले में कफ का या खरास,
दस्त,
सरदर्द,
मांसपेशियों या जोड़ों में दर्द,
विभिन्न प्रकार के त्वचा लाल चकत्ते,
उल्टी आना,
ठंड लगना या चक्कर आना।

गंभीर COVID-19 रोग में शामिल लक्षण हैं:

भ्रम की स्थिति,सांस लेने में कठिनाई,
सीने में लगातार दर्द या दबाव,
उच्च तापमान (38 डिग्री सेल्सियस से ऊपर)।

मानसिक लक्षण हैं:

चिड़चिड़ापन,
भ्रम की स्थिति,
कम चेतना (कभी-कभी दौरे से जुड़ी),
चिंता,
डिप्रेशन,
नींद संबंधी विकार,
दुर्लभ न्यूरोलॉजिकल जटिलताएं जैसे स्ट्रोक, मस्तिष्क की सूजन, प्रलाप और तंत्रिका क्षति।

image

कोरोना के वैरियंट नाम:-

पहले कोरोना के अलग-अलग वैरियंट को उसके देश के नाम से जाना जाता था इस समस्या को खत्म करने के लिए डब्ल्यूएचओ द्वारा बुलाई गई इस विशेषज्ञ समूह ने ग्रीक वर्णमाला, यानी अल्फा, बीटा, गामा के लेबल वाले अक्षरों का उपयोग करने की सिफारिश की है, जो गैर-वैज्ञानिक दर्शकों द्वारा चर्चा के लिए आसान और अधिक व्यावहारिक होगा।

इसका उपयोग वैज्ञानिकों द्वारा और वैज्ञानिक अनुसंधान में उपयोग में बना रहेगा।
वेरिएंट की सार्वजनिक चर्चा में सहायता के लिए, WHO ने WHO वायरस इवोल्यूशन वर्किंग ग्रुप, WHO COVID-19 संदर्भ प्रयोगशाला नेटवर्क के वैज्ञानिकों का एक समूह, GISAID, नेक्स्टस्ट्रेन, पैंगो के प्रतिनिधियों और कई से वायरोलॉजिकल, माइक्रोबियल नामकरण और संचार में अतिरिक्त विशेषज्ञों को बुलाया।

CORONA variyant 2
CORONA VARIYANT

डेल्टा प्लस वैरिएंट के ये हैं हल्के, सामान्य और गंभीर लक्षण, और क्यों है ज्यादा खतरनाक।

COVID-19 इस तरह कोहराम मचाया है की इसमें बड़ी Economy वाले देश अमेरिका, ब्रिटेन, और भारत को भी बेपटरी कर दिया है। सभी देशो में सामान रूप से कहर मचाया है।
भारत में बीते कुछ महीनों पहले कोरोना की जो दूसरी लहर आई, जो अब फिलहाल धीमी होती नजर आ रही है। लेकिन वैज्ञानिको के दवारा पहले ही कोरोना के तीसरी लहार के बारे में चेता दिया गया है। यह लहर बहुत अधिक खतरनाक होगी। भारत में तीसरी लहर आने का कारण कोरोना का नया रूप ‘डेल्टा प्लस‘ हो सकता है।
वहीं, विश्व स्वास्थय संगठन (WHO) भी मान चुका है कि कोरोना का यह रूप बेहद खतरनाक है। ऐसे में इसके कुछ हल्के से लेकर गंभीर लक्षण हैं, जिन्हें हमें कभी भूलकर भी हल्के में लेने की गलती नहीं करनी है। तो

चलिए जानते हैं डेल्टा प्लस के बारे में।

डेल्टा COVID-19 वायरस के RNA में परिवर्तन के बाद डेल्टा प्लस वैरियंट बना है।
डेल्टा प्लस वैरियंट वायरस को वैज्ञानिक नाम B1.617.2 दिया गया है। कोरोना का डेल्टा प्लस वैरियंट भारत में व अन्य देशो में तीसरी लहर बन कर उभर सकता है।
इस प्रकार के वैरियंट से और भी खतरनाक तबाही की आशंका है।

COVID-19 का डेल्टा प्लस वैरियंट के सामान्य लक्षण:-

सूखी खांसी होना
बुखार आना
थकान महसूस होना।

डेल्टा प्लस के गंभीर लक्षण:-

सांस फूलना
सीने में दर्द उठना
सांस लेने में कठिनाई होना
बोलने में तकलीफ होना
सिरदर्द और लूज मोशन की दिक्कत।

बचाव:-

पहले तो बहुत जरूरी हो तभी घर पर निकले
घर से बाहर निकलते वक्त साफ़ डबल मास्क लगाएं
समय-समय पर सैनिटाइजर का यूज करें
घर से बाहर निकले तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें
जब भी बाहर से घर आएं तो हाथों को करीब 20 सेकेंड तक अच्छे से धोएं
बाहर से लाए हुए सामान को डिसइंफेक्ट करें
हाथ और मुँह को छूने से बचे

अगर किसी के घर या परिवार में COVID-19 का मरीज पाया जाता है तो उसके परिवार को ख़ास सावधानियाँ बरतनी चाहिए और होम आइसोलेशन में रहना चाइये ताकि दुसरो को बीमारी ना फैले और इसमें किसी और को कोरोना ना फैले
मरीज के खान पान का खास ख्याल रखना चाहिए और समय- समय पर दवाइयाँ देनी चाहिए

कोरोना की आंतरिक संरचना

कोरोना वायरस की संरचना

COVID-19 की आंतरिक संरचना बहुत ही जटिल प्रकार का है
कोरोना वायरस की संरचना में RNA की प्रमुख भूमिका होती है क्युकी इसको बनने में DNA के मुकाबले बहुत जल्दी होती अर्थात RNA की संरचना बहुत तेजी से बनती है COVID-19 में प्रोटीन के टूट जाने के बाद कोरोना कमजोर पड़ता है
आप दिए गए संरचना चित्र की मदद से इसको समझ सकते है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top