मछली के फायदे और नुकसान | Fish Benefits and Side Effects in Hindi

Join Our WhatsApp Channel Join Now
Join Our Telegram Channel Join Now

Fish Benefits and Side Effects in Hindi:-दोस्तों Gk-help.com के Helth Tips के अंदर आपका स्वागत है। आज के इस Blogs में हम आपको मछली (Fish) खाने के फायदे, उपयोग और नुकसान के बारे में सही, स्पष्ट्ट व सटीक जानकारी देंगे। कृपया मछली (Fish) खाने के फायदे, उपयोग और नुकसान के बारे में जानने के लिए इस पोस्ट को ध्यान से पढ़े। दोस्तों अपने आप को स्वस्थ्य रखने के लिए नियमित मात्रा में पोषक तत्वों का सेवन करना जरूरी होता है। शरीर में पोषक तत्वों की पूर्ति के लिए आप कई प्रकार के फलों और सब्जियों का सेवन कर सकते हो। अगर आप मांसाहारी भोजन का सेवन करते हो तो आप मछली का सेवन कर सकते हो और अपने स्वास्थ्य को बेहतर बना सकते हो। क्योकि मछली में कई प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते है जो की हमारे स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के साथ साथ कई प्रकार की बीमारियों के सक्रमण से बचाव भी करती है।

भारत देश में मछलियों की लगभग 32000 प्रजातिया पायी जाती है। इनमे से कई प्रजातियो का भारत देश में मास के रूप में सेवन भी किया जाता है। जानकारी के मुताबित मछली बंगाली लोगो का बहुत ही प्रिय भोजन है। बंगाली लोग मछली का बहुत ही अधिक मात्रा में सेवन करते है। इसलिए कहा जाता है कि बंगाली लोगो का दिमाग बहुत ही तेजी से काम करता है। Gk-help.com के Helth Tips के इस लेख में हम मछली (Fish) खाने के फायदे और मछली के नुकसान के बारे में वैज्ञानिक शोध के आधार पर जानकारी दे रहे हैं। मछली (Fish) के फायदे से जुड़ी जानकारी के लिए लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

Fish Benefits and Side Effects in Hindi

मछली के फायदे (Benefits of Fish in Hindi)

Fish Benefits:-दोस्तों अगर आप नॉनवेजिटेरियन हैं तो आपके लिए मछली (Fish) का सेवन करना काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। मछली (Fish) खाने के फायदे बहुत ही कम लोग जानते है। क्या आपको पता है कि मछली (Fish) हमारे शरीर में किन किन अंगो के लिए फायदेमंद है। अगर नहीं तो आइये दोस्तों जानते है कि मछली (Fish) खाने के क्या क्या फायदे है। जो इस प्रकार है:-

  • मछली के फायदे हृदय के लिए:-दोस्तों हमारे शरीर में मह्त्वपूर्ण अंग हृदय को स्वस्थ्य रखना बहुत ही जरूरी होता है। हार्ट पेशेंट्स लोगो के लिए मछली (Fish) का सेवन करना बहुत ही फायदेमंद होता है। क्योकि मछलियों में मौजूद अनसेचुरेटेड फैटी एसिड कोलेस्ट्रॉल कम करने में भी मदद करता है। इसके अलावा मछली (Fish) में ओमेगा-3 भी पाया जाता है। जो बहुत ही लाभकारी होता है। यह ओमेगा-3 फैटी एसिड हमारे शरीर में अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल को जमा नहीं होने देता है। और दिल की बीमारियों जैसे हार्ट अटेक, और हार्ट ब्लॉग से भी रक्षा करता है। दोस्तों मछली (Fish) को कम फैट वाली फूड श्रेणी में रखा गया है, क्योकि मछली (Fish) में लो फैट होता है।
  • मछली के फायदे मस्तिष्क क्षमता बढ़ाने में:- अगर आप भी अपने दिमाग को तेज और स्मरण शक्ति को बढ़ाना चाहते हो तो आपको मछली (Fish) का सेवन जरूर करना चाहिए। क्योकि मछली में भरपूर मात्रा में ओमेगा -3 फैटी एसिड मौजूद होता है, जो माइल्ड कॉग्निटिव इम्पैर्मेंट अथार्त दिमागी क्षमता का कमजोर होना के जोखिम को करने में मदद करता है। और स्मरण शक्ति में भी बढ़ोतरी करता है। इसके अतिरिक्त मछली (Fish) में ओर अन्य पोसक तत्व भी मौजूद होते है जो कि मस्तिष्क की नई कोशिकाओं का भी निर्माण करते है। बच्चो को भी आप मछली (Fish) खिला सकते हो, जिससे उनका दिमाग तेज रहता है।
  • मछली के फायदे बालों के लिए:- दोस्तों वर्तमान समय में अधिकतर लोगो के अपने बालो को लेकर बहुत परेशान रहते है। क्योकि कम उम्र में बालो का झड़ना, रुखा होना, कम उम्र में सफेद होना शुरू हो जाते है। इन सभी समस्याओ से निजात पाने के लिए आपको मछली (Fish) का सेवन करना चाहिए। मछली ओमेगा-3 और ओमेगा-6 सप्लीमेंट से भरपूर है जो कि बालों में कोलेजन बूस्ट करने का काम करता है। और जल्दी सफेद होने से बचाता है। मछली (Fish) में विटामिन-D भी पाया जाता है। जो की हमारे बालो की जड़ो को मजबूत करता है। और उन्हें झड़ने इ रोकता है। इसके साथ ही मछली (Fish) में ओर अन्य पोसक तत्व भी मौजूद होते है जो बालों की ग्रोथ को बढ़ाने में मदद करते है। इसलिए आपको मछली (Fish) का सेवन जरूर करना चाहिए।
  • मछली के फायदे  त्वचा के लिए:- दोस्तों कुछ विटामिन्स की कमी के कारण हमारी त्वचा पर कई प्रकार के इंफेक्शन हो जाते है। जैसे त्वचा का लाल होना, दाग-धब्बे होना आदि। ऐसे में मछली का सेवन करना त्वचा के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। क्योकि मछली के तेल में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं और यह बहुत सारी समस्याओं को जैसे एक्जिमा, सन बर्न और सेंसिटिव स्किन को सुलझाने में मदद कर सकता है। इसके साथ ही मछली में उपलब्ध ओमेगा 3 फैटी एसिड त्वचा की सूजन को कम करने के साथ ही मुंहासे की समस्या से आराम दिलाने में मदद करता है। और इसके अतिरिक्त मछली में विटामिन-D भी त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों से होने वाले नुकसान से सुरक्षा प्रदान करने में भी फायदेमंद होता है। त्वचा पर ग्लो लाने के लिए मछली का तेल भी फायदेमंद होता है।
  • मछली के फायदे रक्तचाप के लिए:- जो लोग हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित है उनके लिए मछली खाना फायदेमंद होता है। इसलिए बढ़ते हुए रक्तचाप की समस्या को नियंत्रित करने के लिए मछली (Fish) का सेवन करना लाभदायक होता है। क्योकि मछली में लो फैट होता है, जिस कारण हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से राहत मिलती है। इसके साथ ही मछली (Fish) में ओमेगा 3 फैटी एसिड की अच्छी मात्रा पाई जाती है, जो कि हमारे शरीर अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल को जमा नहीं होने देता है। और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है।
  • मछली के फायदे आंखों के लिए:- बढ़ती हुई उम्र के कारण हमारी आँखो की रोशनी कम होने लगती है। मछली का सेवन करना हमारी आखो की रोशनी बढ़ाने में बहुत ही लाभदायक होती है। क्योकि मछली (Fish) ओमेगा-3 फैटी एसिड बहुत अधिक मात्रा पाया जाता है, जो आंखों के लिए बहुत उपयोगी होता है। इसलिए दोस्तों अगर आप नॉनवेज का सेवन करते हो तो आपको मछली का सेवन जरूर करना चाहिए।
  • मछली के फायदे प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए:- बदलते मौसम का कारण हमारा शरीर कई बीमारियों के सम्पर्क में आ जाता है। क्योकि हमारे शरीर में विटामिन की कमी के कारण हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली बहुत कमजोर पड़ जाती है। शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता अथार्थ इम्यून सिस्टम को मजबूत करने के लिए हमे मछली का सेवन करना चाहिए। क्योकि मछली (Fish) में विटामिन-डी की मात्रा बहुत अधिक होती है। जो हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाये रखने में काफी फायदेमंद होती है। इसके साथ ही मछली (Fish) में सेलेनियम भी पाया जाता है, जो की सेलेनियम की कमी से होने वाली इम्यून सिस्टम की कमजोरी से बचा जा सकता है।
  • नींद में सुधार मछली के फायदे:- जिन लोगो को नींद नहीं आती है। और अवसाद और चिंता जैसी समस्याओं से ग्रस्त लोगो के लिए मछली (Fish) का सेवन करना बहुत ही लाभदायक हो सकता है। क्योकि मछली (Fish) में मछली में विटामिन-डी की अच्छी मात्रा होती हैं, जो अवसाद और चिंता जैसी समस्याओं को कुछ हद तक कम करने में मदद कर सकता है। और साथ ही अच्छी नींद में भी सुधार करता है। दोस्तों एक शोध के अनुसार अच्छी नींद पाने के लिए व्यक्ति को हमेसा मछली (Fish) को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए।
  • मछली के फायदे बच्चों में अस्थमा से राहत:- दोस्तों मछली (Fish) का सेवन करना बच्चों के लिए बहुत फायदेमंद होती है। मछली (Fish) बच्चो में अस्थमा के लक्षणों जैसे सांस लेने में तकलीफ, दम घुटना आदि। बीमारियों में सुधार करता है। क्योकि मछली (Fish) में ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है। जो बच्चो में सांस लेने में तकलीफ की समस्या को कम करता है। दोस्तों एक अध्ययन में पाया गया है कि मछली में एन-3 ऑयल पाया जाता है जो अस्थमा के जोखिम को 62 प्रतिशत तक कम कर देता है। अतः बच्चों को मछली (Fish) अवश्य खिलाना चाहिए।
  • मछली के फायदे अवसाद से छुटकारा पाने में:- दोस्तों हमे डिप्रेशन अथार्थ अवसाद की स्थिति से राहत पाने के लिए भी मछली का सेवन करना चाहिए। यह डिप्रेशन को कम करने में काफी फायदेमंद होती है। क्योकि मछली में पाया जाने वाला ओमेगा-3 फैटी एसिड डिप्रेशन के जोखिम को कम करने के साथ ही गुस्से को नियंत्रित करने का काम करता है।
  • मछली के फायदे प्रेग्‍नेंसी में:-दोस्तों गर्भवती महिलाओ को गर्भवस्था के दौरान मछली का सेवन करना माँ के साथ साथ बच्चे के लिए भी फायदेमंद होता है। गर्भ में पल रहे बच्चे का दिमाग तेज रहता है। और साथ ही गर्भवस्था के दौरान माँ से बच्चे को अस्थमा होने का खतरा भी कम होता है। मछली के तेल में ओमेगा-3 फैटी एसिड होते हैं जो कार्डियोवस्‍कुलर बीमारियों के खतरे को कम करने में मदद करते हैं। और ओमेगा-3 फैटी एसिड शिशु के मस्तिष्‍क के विकास को बढ़ावा देता है, हड्डियों को मजबूती प्रदान करती है। गर्भवस्था के दौरान शिशु को कई प्रकार के पोसण की आवश्य्कता होती है। जो माँ के द्वारा ही शिशु को मिलता है। इसलिए गर्भवती महिलाओ को गर्भवस्था के दौरान मछली का सेवन करना चाहिए।
  • कैंसर में मछली के फायदे:-देशभर में हर साल कई लोग कैंसर जैसी बीमारी से जूझ रहे है। कैंसर हमारे शरीर में विटामिन-12 की कमी के कारण होता है। विटामिन-12 की पूर्ति के लिए हमे मछली का सेवन करना चाहिए। क्योकि मछली में विटामिन-12 की मात्रा भी पायी जाती। जो कि कैंसर के खतरे को कम करता है। इसके साथ ही मछली में ओमेगा 3 फैटी एसिड (omega 3 fatty acids) पर्याप्त मात्रा में मौजूद होता है। जो हमारे शरीर को कई रोगो से दूर रखता है। खासतोर  महिलाओ को मछली का सेवन करना चाहिए जो उन्हें ब्रेस्ट कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर से बचता है।

मछली के पौष्टिक तत्व (Fish Nutritional Value in Hindi)

मछली में अनेक प्रकार के पौष्टिक तत्व पाए जाते है। जो की हमारे शरीर को आव्सय्कता होती है। तो आइये दोस्तों हम आपको इस सारणी के माध्यम से बताते है।  जो इस प्रकार है:-

क्रमपोषक तत्वमूल्य प्रति 100 ग्राम 
1पानी49.5 g
2ऊर्जा277 kcal
3प्रोटीन11.01 g
4टोटल लिपिड (फैट)16.23 g
5कार्बोहाइड्रेट21.66 g
6फाइबर, टोटल डाइटरी1.5 g
7शुगर1.65 g
8कैल्शियम, Ca16 mg
9आयरन, Fe0.84 mg
10मैग्नीशियम, Mg25 mg
11फास्फोरस, P191 mg
12पोटेशियम, K185 mg
13सोडियम, Na402 mg
14जिंक, Zn0.42 mg
15कॉपर, Cu0.059 mg
16मैंगनीज, Mn0.182 mg
17सेलेनियम, Se15.7 mg
18थियामिन0.122 mg
19राइबोफ्लेविन0.116 mg
20नियासिन1.536 mg
21विटामिन बी-60.078 mg
22फोलेट24 µg
23विटामिन बी-120.96 µg
24विटामिन ए, RAE4 µg
25विटामिन ए, IU18 IU
26विटामिन ई (अल्फा-टोकोफेरोल)6.88 mg
27विटामिन डी (डी 2 +डी 3)1 IU
28विटामिन-के4.7 µg
29फैटी एसिड, टोटल सैचुरेटेड3.733 g
30फैटी एसिड, टोटल मोनोअनसैचुरेटेड3.193 g
31फैटी एसिड, टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड7.824 g
32कोलेस्ट्रॉल28 mg

मछली (Fish) का उपयोग (How to Use Fish in Hindi)

दोस्तों मछली (Fish) का उपयोग कई प्रकार से किया जा सकता है। बहुत से लोग अपने स्वाद के अनुसार खाना पसंद करते है। जिनमें से कुछ आम और प्रचलित तरीके इस प्रकार है:-

  1. कई लोग मछली का फिश करी बनाकर चावल या रोटी के साथ सेवन करते है।
  2. कई लोग मछली डीप फ्राई करके भी सेवन करते है।
  3. कई लोग मछली का फिश बिरयानी बनाकर भी सेवन करते है।
  4. अधिकतर लोग मछली का सुप भी बनाकर भी सेवन करते है।
  5. मछली का फिश मंचूरियन भी बनाया जा सकता है।
  6. मछली के पकोड़े भी बनाकर इसका सेवन कर सकते है।

मछली खाने का सही समय (Fish Khane Ka Shi Samay In Hindi)

दोस्तों अक्सर कई लोगो का सवाल होता है कि मछली का सेवन करने का सही समय क्या है? Gk-help.com के हैल्थ टिप्स के अनुसार मछली खाने का सही समय इस प्रकार है:-

  • फिश करी का आप रात या सुबह के समय खाने के साथ मछली का सेवन कर सकते हो।
  • बिरयानी के रूप में आप मछली का सेवन लंच या डिनर के समय कर सकते हो।
  • मछली का सुप का सेवन आप शाम के समय कर सकते हो।
मछली कितना खाएं

दोस्तों यह कह पाना कठिन होगा कि एक दिन में कितना मछली का सेवन किया जाये। क्योकि प्रत्येक व्यक्ति की डाइट एक समान नहीं होती है। लेकिन एक स्वस्थ व्यक्ति एक दिन में 40 ग्राम मछली का सेवन करना लाभदायक होता है। इसके अनुसार एक सप्ताह में 280-300 ग्राम मछली का सेवन करना चाहिए। लेकिन एक स्वस्थ व्यक्ति को सप्ताह में 2 ही बार मछली का सेवन करना चाहिए। दोस्तों मछली के सेवन की सही मात्रा जानने के लिए किसी आहार विशेषज्ञ से परामर्श करना अति आवश्य्क होता है।

मछली खाने के नुकसान (Side Effects of Fish in Hindi)

  • मछली का सेवन करने के तुरंत बाद दही का सेवन करने से बचना चाहिए। अन्यथा आपको हानि का सामना करना पड़ सकता है।
  • प्रेगनेंट महिलाओ या प्रेगनेंसी कंसीव करने वाली महिलाओ को मछली का सेवन करने से दूर रहना चाहिए। क्योकि कई मछलियों में मरकरी की अधिक मात्रा पायी जाती है, जो कि गर्भावस्था के दौरान नुकसान का कारण बन सकती है। और यह मरकरी गर्भावस्था के दौरान प्लेसेंटा के माध्यम से गर्भवती महिला से भ्रूण में जा सकती है और भ्रूण के मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र के विकास को में बाधा उत्तपन कर सकती है। अतः प्रेगनेंट महिलाओ को गर्भवस्था के दौरान मछली का सेवन करने से पहले किसी डॉक्टर या एक्सपर्ट से परामर्श करना चाहिए। और प्रेगनेंट महिलाओ को गर्भवस्था के दौरान हानि का सामना करना पड़ सकता है।
  • जो लोग डायबिटीज की बीमारी से ग्रस्त है, उन्हें मछली का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योकि मछली में ओमेगा 3 फैटी एसिड की अधिक मात्रा पाई जाती है। यह ओमेगा 3 फैटी एसिड हमारे शरीर के रक्त में शुगर के लेवल को बढ़ा सकती है। इसलिए डायबिटीज के मरीजों को मछली का सेवन करने से मना किया जाता है। ओमेगा 3 फैटी एसिड हमारे शरीर के रक्त में शुगर के लेवल को बढ़ा सकती है। इसलिए डायबिटीज के मरीजों को मछली का सेवन करने से मना किया जाता है।
  • मछली में पाया जाने वाला ओमेगा 3 फैटी एसिड ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मदद करता है। लेकिन अधिक मात्रा में मछली का सेवन करने से यह ओमेगा 3 फैटी एसिड ब्लड प्रेशर को जरूरत से ज्यादा कम कर सकता है।
  • जो लोग मछली का सेवन करते है, उन्हें मछली खाने के बाद दूध का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योकि यह माना जाता है कि दूध पिने से हमारी त्वचा पर सफेद दाग हो जाते है। और इसके साथ ही पाचन भी खराब हो सकता है।
  • दोस्तों अगर आप पारा और पीसीबी युक्त मछली का सेवन अधिक मात्रा में करते हैं, तो यह हमारे मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र का काफी ज्यादा नुकसान पहुंचा सकती है।
  • दोस्तों मछली का अधिक मात्रा में सेवन करने से कैंसर का खतरा कम होने के साथ ही बढ़ भी सकता है। क्योकि मछली में पीसीबी की मात्रा अधिक होती है। और हमारे शरीर में इसकी मात्रा बढ़ने से कैंसर हो सकता है।

नोट:- दोस्तों आशा करता हूँ कि Gk-help.com के Helth Tips के अंदर मछली खाने के फायदे के बारे में दी गयी जानकारी से आप सहमत होंगे। मछली कहने से कई फायदे होते है, लेकिन अगर आप किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त है, तो आपको किसी भी डॉक्टर या एक्सपर्ट से राय-परामर्श लेकर ही मछली का सेवन करना चाहिए। अन्यथा आपको हानि का सामना करना पड़ सकता है। इस तरह के अन्य खाद्य पदार्थों से जुड़ी जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारी वेबसाइट पर पब्लिश दूसरे लेख को भी पढ़ सकते हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या मछली का रोज सेवन किया जा सकता है?

जी नहीं, दोस्तों मछली का रोज सेवन करने से आपको नुकसान हो सकता है। आप सप्ताह में दो ही बार सेवन कर सकते हो।

कौन-सी मछली का सेवन करना स्वास्थ्य के लिए अधिक फायदेमंद होती है?

दोस्तों टूना मछली और सैल्मन मछली का सेवन करना हमारे स्वास्थ्य के लिए अधिक फायदेमंद माना जाता है।

क्या प्रेगनेंट महिलाये या प्रेगनेंसी कंसीव करने वाली महिलाये मछली का सेवन कर सकती है?

जी हां, प्रेगनेंट महिलाये या प्रेगनेंसी कंसीव करने वाली महिलाये मछली का सेवन कर सकती है। लेकिन गर्भवती महिलाओ को मिथाइलमर्करी युक्त मछली खाने से तो बिल्कुल बचना चाहिए। यह भ्रूण के विकसित होने में भी बाधा उत्पन्न करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top