Maa Durga Aarti

Jai Ambe Gauri Maiya Jai Shyama Gauri (जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी – आरती)

Jai Ambe Gauri Maiya Jai Shyama Gauri: जब हम घर में कोई भी शुभ काम करते है तो उसमे देवी की अम्बे की पूजा की जाती है। साथ ही नवरात्री के दिनों में भी माँ दुर्गा की पूजा की जाती है पूजा के साथ इस आरती को विधिवत रूप से गाया जाता है। मां को […]

Jai Ambe Gauri Maiya Jai Shyama Gauri (जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी – आरती) Read More »

विन्ध्येश्वरी आरती: सुन मेरी देवी पर्वतवासनी || Sun Meri Devi Parvat Vasani | Shree Vindhyeshwari Mata Aarti Hindi & English

Shree Vindhyeshwari Mata Aarti Lyrics in Hindi Shree Vindhyeshwari Mata Aarti in Hindi|| जगजननी जय! जय!!माँ! जगजननी जय! जय!!भयहारिणि, भवतारिणि,माँ भवभामिनि जय! जय ॥जगजननी जय जय..॥ तू ही सत-चित-सुखमय,शुद्ध ब्रह्मरूपा ।सत्य सनातन सुन्दर,पर-शिव सुर-भूपा ॥जगजननी जय जय..॥ आदि अनादि अनामय,अविचल अविनाशी ।अमल अनन्त अगोचर,अज आनँदराशी ॥जगजननी जय जय..॥ अविकारी, अघहारी,अकल, कलाधारी ।कर्त्ता विधि, भर्त्ता हरि,हर सँहारकारी ॥जगजननी जय

विन्ध्येश्वरी आरती: सुन मेरी देवी पर्वतवासनी || Sun Meri Devi Parvat Vasani | Shree Vindhyeshwari Mata Aarti Hindi & English Read More »

श्रीदेवीजी की आरती – जगजननी जय! जय! || Shri Deviji Ki Aarti – Jaijanani Jai Jai

Shri Deviji Ki Aarti in Hindi Shri Deviji Ki Aarti Lyrics in English||जगजननी जय! जय!!माँ! जगजननी जय! जय!!भयहारिणि, भवतारिणि,माँ भवभामिनि जय! जय ॥जगजननी जय जय..॥ तू ही सत-चित-सुखमय,शुद्ध ब्रह्मरूपा ।सत्य सनातन सुन्दर,पर-शिव सुर-भूपा ॥जगजननी जय जय..॥ आदि अनादि अनामय,अविचल अविनाशी ।अमल अनन्त अगोचर,अज आनँदराशी ॥जगजननी जय जय..॥ अविकारी, अघहारी,अकल, कलाधारी ।कर्त्ता विधि, भर्त्ता हरि,हर सँहारकारी ॥जगजननी जय जय..॥ तू

श्रीदेवीजी की आरती – जगजननी जय! जय! || Shri Deviji Ki Aarti – Jaijanani Jai Jai Read More »

अम्बे तू है जगदम्बे काली: माँ दुर्गा, माँ काली आरती (Maa Durga Maa Kali Aarti)

Maa Durga Maa Kali Aarti in Hindi Maa Durga Maa Kali Aarti lyrics in Hindi|| अम्बे तू है जगदम्बे काली,जय दुर्गे खप्पर वाली ।तेरे ही गुण गाये भारती,ओ मैया हम सब उतरें, तेरी आरती ॥ तेरे भक्त जनो पर,भीर पडी है भारी माँ ।दानव दल पर टूट पडो,माँ करके सिंह सवारी ।सौ-सौ सिंहो से बलशाली,अष्ट भुजाओ

अम्बे तू है जगदम्बे काली: माँ दुर्गा, माँ काली आरती (Maa Durga Maa Kali Aarti) Read More »

Scroll to Top