Navratri 5th Day – Maa Skandmata | Skandmata Aarti Lyrics In Hindi & English

Skandmata Aarti:- मां स्कंदमाता को भगवान शिव के प्रथम पुत्र कार्तिकेय की माता के रूप में जाना जाता है। मां स्कंदमाता सभी की रक्षक और माता हैं। स्कंदमाता मां के प्रेम, पोषण, त्याग, रक्षक और ज्ञान की प्रतिमूर्ति हैं। माँ स्कंदमाता देवी दुर्गा का पाँचवाँ अवतार हैं और अपने भक्तों की रक्षा के लिए एक माँ की तरह जानी जाती हैं जो अपने बच्चे को किसी भी नुकसान से बचाती हैं। कहा जाता है कि वह अपने विश्वासियों को मोक्ष, शक्ति, धन और खजाना प्रदान करती है।

5th day of navratri colour:– Green

Maa Skandmata Aarti Lyrics in English

Navratri 5th Day Bhog
मां को केले का भोग अति प्रिय है। मां को आप खीर का प्रसाद भी अर्पित करें।
 
|| मंत्र ||
या देवी सर्वभूतेषु मां ब्रह्मचारिणी रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।
 
दधाना कपाभ्यामक्षमालाकमण्डलू।
देवी प्रसीदतु मयि ब्रह्मचारिण्यनुत्तमा।

Skandmata Aarti Lyrics In Hindi

स्कन्दमाता की आरती – Skandmata Aarti
||

जय स्कन्द माता ,
ॐ जय स्कन्द माता ।
शक्ति भक्ति प्रदायिनी,
सब सुख की दाता ।।
 
ॐ जय स्कन्द माता ।।
 
कार्तिकेय की हो माता ,
शंभू की शक्ति ।
भक्तजनों को मैया,
देना निज भक्ति ।।
 
ॐ जय स्कन्द माता ।।
 
चार भुजा अति सोहे ,
गोदी में स्कन्द ।
द्या करो जगजननी,
बालक हम मतिमन्द ।।
 
ॐ जय स्कन्द माता ।।
 
शुभ्र वर्ण अति पावन ,
सबका मन मोहे ।
होता प्रिय माँ तुमको,
जो पूजे तोहे ।।
 
ॐ जय स्कन्द माता ।।
 
स्वाहा स्वधा ब्रह्माणी ,
राधा रुद्राणी ।
लक्ष्मी शारदे काली,
कमला कल्याणी ।।
 
ॐ जय स्कन्द माता ।।
 
काम क्रोध मद ,
मैया जगजननी हरना ।
विषय विकारी तन मन,
को पावन करना ।।
 
ॐ जय स्कन्द माता ।।
 
नवदुर्गो में पंचम ,
मैया स्वरूप तेरा ।
पाँचवे नवरात्रे को,
होता पूजन तेरा ।।
 
ॐ जय स्कन्द माता ।।
 
तू शिव धाम निवासिनी,
महाविलासिनी तू ।
तू शमशान विहारिणी,
ताण्डव लासिनी तू ।।
 
ॐ जय स्कन्द माता ।।
 
श्री दुर्गा चालीसा लिरिक्स
 
हम अति दीन दुखी माँ,
कष्टों ने घेरे ।
अपना जान द्या कर,
बालक हैं तेरे ।।
 
ॐ जय स्कन्द माता ।।
 
स्कन्द माता जी की आरती,
जो कोई गावे ।
कहत शिवानंद स्वामी,
मनवांछित फल पावे ।।
 
ॐ जय स्कन्द माता ।।
 
श्री दुर्गा स्तुति लिरिक्स
 
जय स्कन्द माता ,
ॐ जय स्कन्द माता ।
शक्ति भक्ति प्रदायिनी,
सब सुख की दाता ।।
 
ॐ जय स्कन्द माता ।।

Skandmata Aarti Lyrics In Hindi & English

Maa Skandmata Aarti in English
||


Jai Teri Ho Skandmata,
Panchva Naam Tumhara Aata,
Sabke Mann Ki Jannan Hari,
Jag Janni Sab Ki Mehtari.
 
Teri Jyoti Jalata Rahu Main,
Hardam Tumhe Dhyata Rahu Main,
Kayi Namon Se Tujhe Pukara,
Mujhe Ek Hai Tera Sahara.
 
Kahi Pahado Par Hai Dera,
Kayi Shehron Mein Tera Basera,
Har Mandir Mein Tere Nazare,
Gun Gaye Tere Bhagat Pyare.
 
Bhagti Apni Mujhe Dila Do,
Shakti Meri Bigadi Bana Do,
Indar Aarti Devta Mil Saare,
Kare Pukaar Tumhare Dware.
 
Dusht Datya Jab Chadh Ker Aaye,
Tum Hii Khanda Hath Uthaye,
Daso Ko Sada Bachane Aaye,
Chaman Ki Aas Pujaane Aayi.

|| माँ स्कंदमाता की आरती ||
 
जय तेरी हो स्कंदमाता |
पांचवां नाम तुम्हारा आता ||
 
सबके मन की जानन हारी |
जग जननी सबकी महतारी ||
 
तेरी जोत जलाता रहू मैं |
हरदम तुझे ध्याता रहू मै ||
 
कई नामों से तुझे पुकारा |
मुझे एक है तेरा सहारा ||
 
कही पहाड़ों पर है डेरा |
कई शहरों में तेरा बसेरा ||
 
हर मंदिर में तेरे नजारे |
गुण गाए तेरे भक्त प्यारे ||
 
भक्ति अपनी मुझे दिला दो |
शक्ति मेरी बिगड़ी बना दो ||
 
इंद्र आदि देवता मिल सारे |
करे पुकार तुम्हारे द्वारे ||
 
दुष्ट दैत्य जब चढ़ कर आए |
तू ही खंडा हाथ उठाए ||
 
दासों को सदा बचाने आयी |
भक्त की आस पुजाने आयी ||

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top