पवमान मंत्र: ॐ असतो मा सद्गमय | Pavman Mantra

Pavman Mantra:- यह मन्त्र पवमान मन्त्र या पवमान अभयरोह मन्त्र बृहदारण्यक उपनिषद का एक मन्त्र हैं। मूलतः सोमयज्ञ की स्तुति में यजमान के द्वारा इस मन्त्र को गाया जाता था। इस मन्त्र का मूल भाव है की हे ईश्वर मुझे असत्य से सत्य की और ले चलो, मुझे अंधेरों से प्रकाश की और ले चलो और मुझे मृत्यु से अमरता की और ले चलो। यह मन्त्र ही नहीं सम्पूर्ण जीवन शैली को प्रकाशित करता है।

Pavman Mantra

|| Pavman Mantra ||

ॐ असतो मा सद्गमय।
तमसो मा ज्योतिर्गमय।
मृत्योर्मामृतं गमय ॥
ॐ शान्ति शान्ति शान्तिः ॥
बृहदारण्यकोपनिषद्
हिन्दी भावार्थ:
हे प्रभु! मुझे असत्य से सत्य की ओर ।
मुझे अन्धकार से प्रकाश की ओर ।
और मुझे मृत्यु से अमरता की ओर ले चलो॥

|| Pavman Mantra In English ||

Om Asato Ma Sadgamaya ।
Tamaso Ma Jyotirgamaya ।
Mrityorma Amritamgamaya ।
Om Shantih Shantih Shantih ॥
Brhadaranyaka Upanisad

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top